Hard Brick और Soft Brick क्या है?

Hard-Brick-aur-Soft-Brick-kya-hai


  Hard Brick और Soft Brick क्या है? इस के बारे में आपको पता रहना चाहिए, अगर आप अपने मोबाइल फोन में ROM (Operating System) को इंस्टॉल करते हो तो आपको हार्ड ब्रेक सॉफ्ट ब्रेक के बारे में जरूर पता रहना चाहिए। यह Information आपके बहुत ज्यादा काम आएगा। Soft Brick क्या है? Hard Brick क्या है? Hard Brick/Soft Brick में क्या अंतर है? और साथ ही साथ में आपको आपने फोन को हार्ड ब्रेक-सॉफ्ट ब्रेक से कैसे बचें? इसके बारे में कुछ टिप्स बताने वाला हूं, आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ लीजिए।


Soft Brick Kya Hai?

 सॉफ्ट ब्रेक क्या है? तो सॉफ्ट का मतलब सॉफ्टवेयर होता है और ब्रेक का मतलब एंड्रॉयड की भाषा में Error हैं। सॉफ्ट ब्रेक का मतलब है कि, आपने कुछ ऐसा अपने फोन के साथ किया है जिसकी वजह से आपके फोन में का Operating System ऊड (Crash)  हो गया है, या फिर वह करप्ट हो चुका है। सॉफ्ट ब्रेक होने के बाद क्या होता है, अपना फोन ऑन नहीं हो पाता यानी कि आपका फोन Boot Logo में अटक जाता है, यानी कि अगर आप अपने फोन को चालु करने की कोशिश करोगे तो, वह बार-बार अपने Boot Logo पर ही आकर रुक जाता है, वह चालू नहीं हो पाता इसी को Soft Brick कहा जाता है।


Soft Brick कैसे होता है?

1.अगर आप अपने फोन में एक कस्टम रोम (OS) इंस्टॉल अच्छी तरीके से इंस्टॉल नहीं किया है तो, आप के Phone को Boot वाली फाइल नहीं मिलेगी तो, आपका फोन Boot Loop में अटक सकता है, यानी कि आपका फोन सॉफ्ट ब्रेक हो सकता है।

2.अगर आप अपने फोन में ROM इंस्टॉल कर रहे हो और आपके फोन की बैटरी खत्म हो जाती है या फिर आपका फोन अचानक से बंद हो जाता है, तो वह प्रोसेस रुक जाती है इसकी वजह से भी आपका फोन सॉफ्ट ब्रेक हो सकता है।

3.अगर आपने अपने फोन में कोई भी आलतू-फालतू File अपने इंस्टॉल करली, जो आपके फोन के साथ कंपैटिबल नहीं है या फिर वह फाइल दूसरी है, तो आपका फोन सॉफ्ट ब्रेक हो सकता है।


Soft Brick की वजह से आपके फोन को क्या नुकसान हो सकता है?

 आपके फोन में का जो Internal Data रहता है, वह सभी डिलीट हो सकता है। यानी कि आपके फोन में जो भी Document, File, Photo, Video सब कुछ डिलीट होने की संभावना रहती है। अगर आपका फोन वारंटी में नहीं है तो आपको इसे पैसे देकर सर्विस सेंटर से रिपेयर करवा सकते हो या फिर आप घर बैठे अपने फोन को Un-brick कर सकते हो।


Hard Brick Kya Hai? कैसे होता है?

 Hard Brick यानी कि मुश्किल, अगर आपने अपने फोन के साथ कुछ कर दिया जो बहुत ही मुश्किल है तो, उसे रिकवर करना भी उतना ही मुश्किल होगा। यानी कि अगर आपने अपने फोन में के कुछ जो मेन सिस्टम फाइल होती है, उसे डिलीट कर कर दिया या फिर आपने गलत फाइल को इंस्टॉल किया और उस फाइल की वजह से आपके बूट बात को बूटिंग फाइल नहीं मिली तो आपका फोन वह चालू नहीं होगा। 

Hard Brick में आपके फोन में 'Black' स्क्रीन यानी कि अगर आप अपने फोन को फास्टबूट मोड या फिर रिकवरी में ऑन करना चाहते हो तो आप इसे नहीं कर सकते, यह पूरी तरीके से डेड हो जाता है। यानी कि आपके फोन को आप कुछ भी नहीं कर सकते आप इसे सर्विस सेंटर लेकर जाकर भी इसे ठीक नहीं करवा सकते हो। अगर आपको अपने फोन का Hard Brick ठीक कराना है, तो आपको अपने फोन का मदरबोर्ड ही बदल वाना पड़ेगा जो आपको बहुत ही महंगा पड़ सकता है।


Hard Brick या Soft Brick ना हो इसलिए हमें किस बातों का ध्यान रखना चाहिए-

1.आपको अपने फोन का OS install करना चाहिए यानी कि, अगर आपने अपने फोन में दूसरे फोन का OS नहीं करना चाहिए आपको अपने फोन का ही ROM (OS)  इंस्टॉल करना चाहिए।

2.ROM इंस्टॉल करते समय आपको अपना फोन स्विच ऑफ होने नहीं देना है, आपको आपके ROM (OS) इंस्टॉल करने से पहले फोन को चार्ज कर लेना है।

3.आपको किसी भी तरह की आलतू-फालतू फाइल को इंस्टॉल नहीं करना है जिससे आपके फोन को नुकसान हो।

4.जो ROM (Operating System) डेवलपर है, जिस प्रकार से OS इंस्टॉल करने के लिए कहते हैं, उसी प्रकार से आपको आपके फोन में ROM इंस्टॉल करना चाहिए।


 मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूं, अगर आप अपने फोन में कोई ROM (OS) install करते हो तो, आपका फोन कितनी बार Boot Logo में अटक चुका है, यह आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं?


*Note - ऊपर मैंने आपको जितने भी टॉपिक बताएं हैं वह सभी एजुकेशन के लिए बताए हैं।


यह जरूर देखें-


Conclusion - 

 मैंने ऊपर आपको Hard Brick और Soft Brick के बारे में हिंदी में बता दिया है और साथ ही साथ मैंने यह, किस वजह से हार्ड ब्रिक सॉफ्ट ब्रिक हो सकता है? इसके कारण भी बताए हैं। आप अगर अपने फोन में कस्टम रोम इंस्टॉल करते हो तो, आपको कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी है। अगर आप इन बातों का ध्यान रखें अपने फोन में रोम इंस्टॉल करते हो या फिर कुछ कोई भी फाइल इंस्टॉल करते हो तो आपका फोन सॉफ्ट ब्रेक Hard Brick नहीं होगा। 

अगर आपका फोन सॉफ्ट ब्रेक हो जाए तो आप मोबाइल सर्विस सेंटर से जाकर अपने फोन को ठीक करा सकते हो, लेकिन अगर आपका फोन Hard Brick हो जाए तो आप इस फोन का मदरबोर्ड ही चेंज करना पड़ेगा इसलिए आप अपने फोन को गलती से भी Hard Brick ना करें।

 यह पोस्ट कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बताइए और इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिए ताकि और भी लोगों को Hard Brick/Soft Brick के बारे में जानकारी हासिल हो और आप हमारी नई पोस्ट पढ़ना ना भूले।


एक टिप्पणी भेजें

अगर आप हमसे कुछ पूछना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में पूछिए 👇👇

और नया पुराने